प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देश को संबोधन जानिए जनता को क्या-क्या मिली सौगातेंJagriti PathJagriti Path

JUST NOW

Jagritipath जागृतिपथ News,Education,Business,Cricket,Politics,Health,Sports,Science,Tech,WildLife,Art,living,India,World,NewsAnalysis

Translate This Article

Tuesday, June 8, 2021

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देश को संबोधन जानिए जनता को क्या-क्या मिली सौगातें

PM Modis national address

PM Modi's national address


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन



कोरोना की दूसरी लहर की तबाही के बाद लोगों को भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन का बेसब्री से इंतजार था क्योंकि पिछले लाकडाउन में वे समय-समय पर लाइव आकर देश के लोगों को संबोधित किया था। लेकिन इस बार देर से सही लेकिन आखिर देशवासियों के सामने आए तथा उन्होंने कोरोना वायरस की दूसरी लहर और भविष्य के प्रबंधन के बारे में चर्चा की आइए जानते हैं कि उन्होंने देशवासियों के लिए क्या कहा तथा क्या क्या सौगातें दीं। पीएम नरेन्द्र मोदी ने संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा है कि देश के सभी नागरिकों को भारत सरकार मुफ्त वैक्‍सीन लगाएगी। 21 जून से इसकी शुरुआत होगी। इसके लिए राज्‍यों को फ्री वैक्‍सीन उपलब्‍ध कराई जाएगी। 7 जून को देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने यह घोषणा की है। गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर के बीच पीएम ने यह संबोधन किया तथा देश में कोविड को लेकर आगामी रणनीति पर चर्चा की। 

कोरोना से जंग हारने वालों के लिए व्यक्त की संवेदना


भारतीय प्रधानमंत्री श्री मोदी  ने  कोरोनावायरस से जिंदगी गंवाने वाले लोगों के लिए संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है  कि कई लोगों ने अपनों को खोया है। ऐसे परिवारों के प्रति उन्‍होंने संवेदना जताई। पीएम ने बीते 100 सालों में इसे सबसे बड़ी महामारी बताया। उन्‍होंने कहा कि इस तरह की महामारी आधुनिक विश्व ने कभी नहीं देखी गई थी।

नेजल वैक्‍सीन पर र‍िसर्च जारी


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नेजल वैक्‍सीन पर भी चर्चा की उन्होंने बताया कि नेजल वैक्‍सीन पर भी रिसर्च हो रही है। इसके चलते वैक्‍सीन को सिरिंज से न लेकर नाक में स्प्रे किया जाएगा। अगर टेस्‍ट में कामयाबी मिली तो वैक्सीनेशन की रफ्तार में और तेजी आएगी।

23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज


पीएम नरेन्द्र मोदी जी ने कहा कि देश में अब तक 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। आने वाले दिनों में कोरोना वैक्सीन की सप्लाई बढ़ने वाली है। देश में 7 विभिन्न कंपनियां वैक्सीन का उत्पादन कर रही हैं। अन्य 3 वैक्सीन का ट्रायल भी चल रहा है। बच्चों के लिए भी दो वैक्सीन का ट्रायल जारी है।



फ्री वैक्‍सीनेशन करेगी केंद्र सरकार


पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सरकार ने फैसला लिया है कि राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 फीसदी काम था, उसकी जिम्मेदारी भी भारत सरकार उठाएगी। ये व्यवस्था आने वाले 2 सप्ताह में लागू की जाएगी। इन 2 सप्ताह में केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर नई गाइडलाइन के अनुसार आवश्यक तैयारी कर लेंगी। 21 जून से देश के हर राज्य में 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी नागरिकों के लिए भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी।


केंद्र-राज्‍य की रस्‍साकशी खत्‍म


पीएम बोले कि वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 फीसदी हिस्सा भारत सरकार खुद खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। यह ऐलान ऐसे समय हुआ है जब कई राज्‍य अपने-अपने यहां वैक्‍सीन की किल्‍लत की बात कह रहे हैं। इसके लिए वे केंद्र सरकार को दोषी ठहरा रहे हैं।


प्राइवेट अस्‍पताल खरीद सकेंगे 25% वैक्‍सीन


भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वैक्सीन का जिक्र करते हुए बताया कि निजी अस्पताल भी वैक्सीन लगाने का कार्य कर सकते हैं इसके दौरान बताया कि अभी देश में बन रही वैक्सीन में से 25 फीसदी प्राइवेट हॉस्पिटल सीधे खरीद सकते हैं। यह व्यवस्था आगे भी जारी रहेगी। ऐसे अस्पताल वैक्सीन की तय कीमत के ऊपर एक डोज पर अधिकतम 150 रुपये ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के पास ही रहेगा।


दीपावली तक मिलेगा 5 किलो अतिरिक्त फ्री राशन


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन में वैसे तो कई बातें खास थी लेकिन गरीबों के लिए उन्होंने सौगात की बात करते हुए बताया कि अब दीपावली तक पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना जारी रहेगी। पीएम मोदी ने बताया कि सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। इस स्‍कीम के तहत नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा। इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने राशनकार्ड धारकों को मई और जून महीने में प्रति व्यक्ति 5 किलो अतिरिक्त अन्न (चावल/गेहूं) मुफ्त में उपलब्ध कराया। पिछले साल कोरोना की पहली लहर के दौरान मार्च में लॉकडाउन के वक्‍त इस योजना का ऐलान हुआ था।

No comments:

Post a Comment


Post Top Ad